Menu Close

होली के दिन गुजिया नही खाने वाले व्यक्तियों को होगी जेल: सरकार

केंद्र सरकार ने आदेश जारी किया है कि होली के दिन गुजिया खाना सभी के लिए अनिवार्य होगा। यदि कोई व्यक्ति गुजिया खाने से माना करेगा तो उसे सीधे जेल भेज जाएगा। आखिर क्यों सरकार ने उठाया यह कदम।

होली के दिन एक तरफ लोग एक दूसरे को रंग लागाते हैं तो दूसरी तरफ सराब का सेवन आम बात हो जाता है। कुछ लोग रंग लगाने दोस्तों या आस-पड़ोस के घरों में जाते हैं तो कुछ लोगों का मकसद हर घर मे एक या दो पेग लगाकर ही बाहर निकलने का होता है। ऐसी स्तिथि में कुछ लोग इतनी सराब पी जाते हैं कि मोहल्ले की नालियों से रेंगते हुए उन्हें घर पहुंचना पड़ता है। यह वही लोग होते हैं जो गुजिया खाने से दूर भागते हैं क्योंकि इन्हें लगता है कि मीठा खाने के बाद ज्यादा नशा न हो जाये।

सरकार का मानना है कि होली के दिन कुछ लोग अपने बेवड़ेपने की हद पार कर के नालियों में गिरे पड़े मिलते है, जिस कारण नालियां जाम हो जाती है। ऐसी स्तिथि में नाली का गंदा पानी रास्तों में बहने लगता है, और लोग उसी पानी को अपनी पिचकारियों में भर के अपने शिकार की तलाश में निकल पड़ते हैं। सरकार को यह लगता है कि इन सबके गुनाहगार नालियों को जाम करने वाले लोग होते हैं। ऐसे लोगों पर लगाम लगाने के लिए सभी घरों की महिला खूफिया विभाग को मुस्तेद रहने के आदेश दे दिए गए हैं।

सर्वे ऑफ़ बेवड़ा पंति की रिपोर्ट

सर्वे ऑफ बेवड़ा पंन्ति की ताजा आंकड़ों से यह पता चला है कि पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष होली में बेवड़ों की तादात में भारी इजाफा होने की आसंका है। प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले बहुत सारे लोगों को पिछली होली में छुट्टी नही मिली थी। उन लोगों का कहना है कि इस साल होली के दिन वह पिछले साल के बदले की भी पियेंगे। और जिन लोगों को इस साल भी छुट्टी नही मिल रही वो पहले ही अपनी नौकरी छोड़कर होली के लिए लकड़िया जमा करने में लग गए।

यह सिर्फ एक हास्य कहानी है इसका किसी भी व्यक्ति से कोई संबंध नहीं है और वैसे भी मजे लो यार, वैसे ही टेंशन कम है क्या।

ऐसी Funny news के लिए हमारी वेबसाइट को फॉलो करें।

Facebook Comments